मिट्टी की सौंधी खुशबू

“मिट्टी की सौंधी खुशबू यूं घुल गई सांसों में,

ज्यों घोले कोई चाशनी बताशों में ॥“

– रश्मि जिंदल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *